Tuesday, June 21, 2016

नसीम अख्‍तर की कविताएं

नसीम अख्‍तर की तीन  कविताएं: तुम्‍हारा मौन,उम्‍मीद और एक बार फिर
( नसीम इन दिनों भोपाल के एक निजी अस्‍पताल में अपने जीवन की लड़ाई लड़ रही है। वह साइकिल से गिरकर बुरी तरह घायल हो गई है। इस वक्‍त वह कोमा में है। उसकी ये तीन कविताएं 2010 में प्रकाशित हुई थीं। तब मैंने इन्‍हें गुल्‍लक में प्रकाशित किया था। उसकी सलामती की दुआ के साथ एक बार फिर से इन्‍हें प्रकाशित कर रहा हूँ।) 




3 comments:

  1. नसीम अख़्तर की कविताओं में उम्मीद है । पढ़वाने के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete
  2. एक से बढ़कर एक भावपूर्ण कविता...आभार राजेश जी इस विशेष प्रस्तुति के लिए..

    ReplyDelete

जनाब गुल्‍लक में कुछ शब्‍द डालते जाइए.. आपको और मिलेंगे...